आंदोलन स्थगित कर स्कूलों में पढ़ाने पहुंचे शिक्षामित्र

मुख्यमंत्री के आश्वासन पर आखिरकार शिक्षामित्रों ने अपना आंदोलन स्थगित कर दिया। बुधवार सुबह शिक्षामित्र स्कूल पहुंचे। सुप्रीम कोर्ट ने 25 जुलाई को शिक्षामित्रों का समायोजन निरस्त कर दिया। इससे नाराज शिक्षामित्रों ने कार्य बहिष्कार कर आंदोलन शुरू कर दिया। छह दिन जिलेभर के शिक्षामित्र कलक्ट्रेट में धरने पर बैठे। शिक्षामित्र सरकार से नया अध्यादेश पारित कराकर शिक्षक बनाए जाने की मांग करते रहे ।

शिक्षामित्रों के बढ़ते आंदोलन को देखते हुए आखिरकार मुख्यमंत्री को हस्तक्षेप करना पड़ा। संयुक्त समायोजित शिक्षक एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष सत्येंद्र कुमार शुक्ल ने बताया कि मंगलवार को प्रांतीय पदाधिकारियों से मुख्यमंत्री की वार्ता हुई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आश्वासन दिया कि शिक्षामित्र स्कूलों में जाकर पढ़ाएं।सरकार शिक्षामित्रों के मामले को लेकर गंभीर है।

सरकार ने 15 अगस्त तक समय मांगा है। इस पर 15 अगस्त तक आंदोलन स्थगित कर दिया गया है। कहा कि यदि 15 अगस्त तक उनकी मांगें पूरी नहीं हुई तो शिक्षामित्र पुन: आंदोलन करने पर बाध्य होंगे। मुख्यमंत्री से आश्वासन मिलने के बाद बुधवार को प्राइमरी स्कूलों में शिक्षामित्र पहुंचे। इससे बंद विद्यालयों के ताले भी खुले गए। स्कूलों में चहल-पहल रही।

शिक्षकों के साथ शिक्षामित्रों ने स्कूलों में पठन-पाठन कराया।मंगरौरा विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय औरंगाबाद में शिक्षक व शिक्षामित्रों ने सुबह प्रार्थना कराई और शिक्षण कार्य किया। दोपहर में बच्चों को मिड डे मील भी परोसा गया। बच्चों को खाने में दाल, चावल, सब्जी व रोटी मिली। इसी तरह प्राथमिक विद्यालय कहैनिया में भी सुबह बच्चों को प्रार्थना कराई गई और शिक्षकों ने बच्चों की हाजिरी ली।

प्राथमिक विद्यालय कंजास में सुबह आठ बजे जिला स्काउट मास्टर सुशील कुमार सिंह ने बच्चों को योगाभ्यास कराया। लक्ष्मणपुर के एकल प्राथमिक विद्यालय रेडी व डिहवा में शिक्षामित्रों ने कक्षाओं में पठन-पाठन कराया। शिक्षामित्रों के आंदोलन से बंद चल रहे बिहार ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय मंडल भासौं, महियामऊ प्रथम, द्वितीय, सराय हिम्मत, सरायइंद्रावत, बिकरा आदि के ताले बुधवार को खुले।प्राथमिक विद्यालय कंजास में योगाभ्यास कराते जिला स्काउट मास्टर सुशील सिंह।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *