शिक्षामित्र प्रति‌निधिमंडल ने सीएम योगी के सामने रखी पांच सूत्रीय मांगे

Shikshamitra को समस्याओं को लेकर एक प्रति‌निधिमंडल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला और उनके सामने पांच सूत्रीय मांगे रखी। प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार यादव के नेतृत्व में uttar pradesh doorasth BTC shikshak sangh के छह सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने Chief Minister Yogi के सामने shikshamitra की मुश्किलों को बताते हुए उन्हें sahayak adhyapak बनाकर रोजगार देने की मांग की।

प्रतिनिधिमंडल ने ये पांच मांगे रखी-

1- केंद्र सरकार से संविधान में संशोधन करा कर नया अध्यादेश लाकर 1,72,000 shikshamitra/samayojit teachhers को sahayak adhyapak बनाकर उन्हें रोजगार प्रदान करें।

2- Government Supreme Court में पुन:विचार याचिका डाले।

3- सरकार विदारी जो भी निर्णय लिया जायेगा वह सभी शिक्षामित्रों को दृष्टिगत लेते हुए लिया जायेग।

4- यदि सरकार samayojit sahayak adhyapak को shikshamitra पद पर वापस भेजता है तो सभी शिक्षामित्रों के समान सारी सुविधायें व अधिकार दिये जायें।

5- जिन शिक्षामित्रों की असामयिक मृत्यु हो गयी है उन्हें मुआवजा व उनके परिवार के किसी एक सदस्य को नौकरी दी जान जिससे उनका जीविकोपार्जन हो सके।

सीएम बोले- जो भी हो सकेगा हम करेंगे

वहीं, सीएम योगी ने आश्वासन दिलाया कि इस मामले पर सरकार से जो भी हो सकेगा वो करेंगे। उन्होंने अगले तीन चार दिनों में निर्णय लेने का निर्देश जारी किया। कुल मिलाकर इस मुद्दे पर सीएम से वार्ता सकारात्मक रही।

इसके पहले भी यूपी सरकार ने मामले में हल निकालने का भरोसा दिलाया था। इसके बाद ही शिक्षामित्र आंदोलन खत्म करने पर राजी हुए थे। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्णय को जारी रखते हुए शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द कर दिया था।

पढ़ें-  Shiksha Mitra Protest Postponed and Reached School for Teaching

78 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *