कम छात्र संख्या वाले स्कूल होंगे समायोजित : सीएम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि नगर क्षेत्र में जिन Primary or junior schools में छात्र संख्या कम हो, उन्हें नजदीक के स्कूलों में samaayojit किया जाए और यहां के शिक्षकों को जरूरतमंद स्कूलों में तैनात किया जाए। वहीं उन्होंने UP board’s mark sheet व certificates online दिए जाने के निर्देश दिए।

पढ़ें- शिक्षकों की नियुक्ति के लिए TET एक मात्र आधार नहीं – NCERT

मुख्यमंत्री बुधवार को केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रलय के स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग के सचिव अनिल स्वरूप व अन्य अधिकारियों के साथ यूपी की बुनियादी व माध्यमिक शिक्षा में बदलाव के रोड मैप पर विचार-विमर्श कर रहे थे। उन्होंने कहा कि अगले सत्र से NCERT course लागू करने के लिए अभी से योजनाबद्ध ढंग से काम किया जाए।

पढ़ें- सहायक शिक्षक भर्ती मामले में बहस पूरी, फैसला सुरक्षित 

शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए तकनीक का सहयोग लिया जाए। विभिन्न प्रदेशों में अपनाई जा रही अच्छी व पारदर्शी कार्यपद्धतियों का अध्ययन कराकर उन्हें यूपी में भी लागू किया जाएगा। उन्होंने इस बात पर चिंता जताई कि निजी स्कूलों व उसमें पढ़ने वाले छात्रों की संख्या बढ़ रही है जबकि Rajkiya Vidhyalaya में ड्रापआउट तेजी से बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि अध्यापकों की उपस्थिति और उनके पढ़ाने की गुणवत्ता में सुधार हो।

पढ़ें- Final hearing on shikshamitra petition in Supreme Court

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *