मदरसों में शिक्षण अवधि में मोबाइल हुआ प्रतिबंधित

इलाहाबाद  उत्तर प्रदेश अरबी-फारसी मदरसा बोर्ड ने सूबे के सभी मदरसों के लिए नए दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। शिक्षण अवधि में कक्षा में मोबाइल फोन का प्रयोग नहीं किया जा सकेगा। इसके अंतर्गत मदरसा परिसर में स्वच्छता पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। पानी की सफाई पर जोर दिया जाएगा। शिक्षा के स्तर एवं गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाए। छात्र-छात्रओं के नाखून साफ होने चाहिए।

सर्वाधिक महत्वपूर्ण निर्णय में परिसर में धूम्रपान पर पूर्णत: प्रतिबंधित कर दिया गया है। प्राचार्य, प्रबंधक, शिक्षक, कर्मचारी और छात्र ध्रूमपान का प्रयोग करता पाया गया तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा शिक्षणकार्य अवधि में शिक्षक और कर्मचारी को किसी अन्य कार्य के लिए न भेजा जाए। मिड डे मील के क्रियान्वयन की व्यवस्था सुव्यवस्थित ढंग से लागू किया जाए। मेड डे मील का मेन्यू पेंट द्वारा मदरसा के नोटिस बोर्ड पर प्रदर्शित की जाए। 2012 के बाद नियुक्त लिपिक को कंप्यूटर का ज्ञान आवश्यक है। मदरसे में नियुक्त प्रत्येक शिक्षक, कर्मचारी और प्रधानाचार्य को उनके पद के अनुसार अर्हता होनी चाहिए। जिला अल्पसंख्यक अधिकारी एसपी तिवारी ने बताया कि उक्त निर्देश गत दिनों अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ मंत्री के साथ हुई बैठक में लिया गया।

मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं 25 अप्रैल से शुरू होंगी1सत्र 2016-17 के लिए उत्तर प्रदेश अरबी फारसी मदरसा बोर्ड की विभिन्न परीक्षाओं की घोषणा कर दी है। परीक्षाएं राज्य स्तर पर 25 अप्रैल शुरू होगी। परीक्षाओं का क्रम 8 मई तक जारी रहेगा। इलाहाबाद में परीक्षा के लिए 17 केंद्र बनाए गए हैं। इसमें तीन इंटर कालेज और बाकी मदरसे हैं। जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी एससी तिवारी ने बताया कि परीक्षा के लिए व्यापक तैयारियां कर ली गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *