उच्च प्राथमिक स्कूलों में लटकेंगे प्रमोशन

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक स्कूलों में प्रधानाचार्य पद पर पदोन्नति मामले में वरिष्ठता का विवाद फंसने से प्रक्रिया रुक गई है। प्रदेश के करीब एक दर्जन जिलों में प्रमोशन हो चुके हैं, बाकी में प्रक्रिया चल रही थी। हाईकोर्ट में प्रकरण पहुंचने पर उसे जहां का तहां रोक दिया गया है। अब यह प्रक्रिया कब आगे बढ़ेगी यह कोर्ट के निर्णय या फिर रुख पर तय करेगा। परिषद के उच्च प्राथमिक स्कूलों में प्रधानाचार्य पद पर सहायक अध्यापकों का ही प्रमोशन होता है। यह मामला वरिष्ठता विवाद की चपेट में आ गया है। असल में महकमे में एक वर्ग विशेष के शिक्षकों का आरक्षण के चलते सामान्य वर्ग के शिक्षकों की अपेक्षा प्रमोशन पहले हो जाता था।

ऐसे में प्रमोशन पा चुके शिक्षक चाहते हैं कि प्रमोशन की वरिष्ठता सूची उनकी प्रमोशन तारीख से बनायी जाए, वहीं सामान्य वर्ग के शिक्षकों का कहना है कि प्रमोशन की वरिष्ठता सूची प्रथम नियुक्ति तारीख से बनायी जाए। विभाग में इन दिनों प्रथम नियुक्ति तारीख से ही पदोन्नति की प्रक्रिया चल रही थी। इस मामले में हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है, जिससे पदोन्नति प्रक्रिया जहां की तहां ठप हो गई है। यही नहीं अबकी बार समायोजन के लिए जो शासनादेश जारी किया गया उसमें विज्ञान/गणित लिखा गया मतलब या तो गणित का अध्यापक रखा जाएगा या फिर केवल विज्ञान का अध्यापक रखा जाएगा, बाकि पूर्व के आदेशों में पहले गणित और विज्ञान दोनों शिक्षकों के रखने के निर्देश थे। इसी तरह पद सृजन को लेकर उक्त दोनों स्थितियों से विसंगतियां पैदा हो गई हैं, जिससे पद सृजन का भी का काम लटका हुआ है। जब तक जिलों में पद सृजन नहीं हो जाएगा तब तक प्रमोशन संभव नहीं है।

पढ़ें- 30 primary schools teachers suspended

27 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *