बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में सहायक अध्यापकों के पद निर्धारण का आदेश

इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में शिक्षक बनने की बनने की तैयारी में जुटे युवाओं के लिए है। विभागीय विद्यालयों में नए सिरे से sahayak adhyapak के पद का निर्धारण होना है। इसमें शिक्षकों के पदों का बढ़ना तय माना जा रहा है। उसी के सापेक्ष आने वाले दिनों में शिक्षकों की भर्तियां होंगी और बड़ी संख्या में युवाओं को फायदा होगा। Basic Shiksha Parishad के Primary and upper primary schools में assistant teachers के पद का फिर निर्धारण होना है। दो साल पहले यह प्रक्रिया शिक्षामित्रों के समायोजन के समय हुई थी, उसके बाद से प्रदेश भर में बड़ी संख्या में नए विद्यालय खुले हैं साथ ही सभी स्कूलों में नए मानकों के अनुरूप शिक्षक भी नहीं है। हालांकि पिछले वर्षो में parishadiya schools में तमाम भर्तियां हुई हैं, फिर भी शिक्षकों के खाली पद भी बहुतायत में हैं। नई सरकार basic shiksha seva chayan board स्थापना की दिशा में तेजी से बढ़ रही है। माना जा रहा है कि सहायक अध्यापकों के पद निर्धारण कराना भी उसी तैयारी का हिस्सा है।

पढ़ें- बीएसए नहीं दे रहे जूनियर हाईस्कूलों की भर्तियों का ब्योरा

परिषद सचिव संजय सिन्हा ने बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिया है कि शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के परिपेक्ष्य में सभी primary and Upper Primary Schools में पद निर्धारण होना है। परिषद मुख्यालय ने आरटीई के अनुसार primary schools में अध्यापकों के पद निर्धारण के लिए सभी जिलों को प्रोफार्मा भी भेजा है। इसमें जिला, प्राथमिक स्कूल का नाम, विकासखंड, 30 सितंबर 2016 को विद्यालय में बच्चों की संख्या (बालक, बालिका व कुल) और विद्यालय में कार्यरत अध्यापकों की संख्या भरकर भेजनी है। इसमें primary and Upper Primary का प्रोफार्मा अलग-अलग है। परिषद ने जिलों से 25 अप्रैल तक यह रिपोर्ट मांगी है। इस रिपोर्ट से शिक्षकों के पदों की तस्वीर साफ होने के साथ ही हाल में हुई भर्तियां और रिक्त पदों की स्थिति भी स्पष्ट हो जाएगी।

पढ़ें- उच्च शिक्षा बेहतर बनाने को दूर होगी शिक्षकों की कमी

दो भर्तियां अधर में अटकी

basic shiksha parishad के प्राथमिक स्कूलों में 12460 sahayak adhyapak व 4000 Urdu teachers की भर्ती प्रक्रिया अधर में अटकी है। सूबे की सत्ता में बदलाव के बाद सारी भर्तियां रोक दी गई है। यह प्रक्रिया अब आगे कब शुरू होगी, फिलहाल स्पष्ट नहीं है। उच्च प्राथमिक स्कूलों में 32 हजार से अधिक अनुदेशकों की काउंसिलिंग कराकर नियुक्ति की प्रक्रिया भी रोकी गई है।jagran

Order of appointment of assistant teachers in schools of basic shiksha parishad

166 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.