अब कोड वाली किताबों से बच्चे करेंगे पढ़ाई

अलीगढ़ : बेसिक शिक्षा परिषद के बच्चे अब कोड वाली किताबों से पढ़ाई करेंगे। क्यूआर कोड वाली पुस्तकों से कालाबाजारी पर अंकुश लगेगा। पहली खेप में कक्षा एक से चार तक के बच्चों की कुल 1,14, 547 किताबें आ चुकी हैं। अफसर अब इन्हें बंटवाने की तैयारी में जुट गए हैं। अफसरों के मुताबिक कक्षा एक की कलरव की 33 हजार 676 प्रतियां, कक्षा दो की गिनतारा की 23 हजार 800, कक्षा तीन की कलरव की 33 हजार 606 कलरव और कक्षा चार की कलरव की 23 हजार 375 किताबें ब्लाक रिसोर्स सेंटर (बीआरसी) पहुंचा दी गई हैं। इनका सत्यापन कराकर वितरण पर विचार होगा। वैसे भी, 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश हो रहा है। अभी सारी किताबें आईं भी नहीं हैं। इस कारण सारी किताबें आने पर एकसाथ बंटवाने का विचार भी है। कुछ का मत है कि कुछ किताबें छुट्टी से पहले ही दे दें, ताकि पढ़ने के काम आएं। जिले में 1776 प्राइमरी व 735 जूनियर हाईस्कूल समेत कुल 2511 सरकारी स्कूल हैं। इनमें 2.11 लाख बच्चे पढ़ते हैं।

इस साल भी 28 हजार बच्चों के नए नामांकन हुए हैं। बीएसए कार्यालय के सहायक वित्त एवं लेखाधिकारी बीबी पांडेय के मुताबिक छात्र संख्या के हिसाब से ही किताबों की मांग की गई है। वहीं, बीएसए डॉ. लक्ष्मीकांत पांडेय का कहना है कि मंगलवार को ही पदभार संभाला है। किताबों का सत्यापन कराकर जल्द वितरण कराएंगे।

कक्षा एक की कलरव में बदलाव: कक्षा एक की कलरव की विषय सामग्री में एक नया अध्याय जोड़ा गया है। लोधा एबीएसए आलोक ने बताया कि इंग्लिश में इंट्रोड्यूज का चैप्टर बढ़ा दिया है। कक्षा छह से आठ के बीच की किताबों में क्या बदला है, यह देखने से ही पता लगेगा।1लोधा बीआरसी पर रखी शासन से भेजी गईं क्यूआर कोड वाली नई किताबें ’ जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *