अब ‘मां’ परखेंगी मिड डे मील की गुणवत्ता, भोजन की निगरानी करेंगी माताओं की छह सदस्यीय समितियां

परिषदीय स्कूलों में बच्चों को उपलब्ध कराए जाने वाले मिड-डे मील की निगरानी अब ‘मां’ करेंगी। ‘मां’ दरअसल इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की माताओं की छह सदस्यीय समिति होगी, जो स्कूलों में जाकर भोजन की गुणवत्ता परखेगी। जनसहभागिता के आधार पर गठित की जाने वाली इन समितियों में सभी वर्गों की उन महिलाओं को शामिल किया जाएगा जो घर से निकल कर इस काम की इच्छुक हों। बेसिक शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल ने पूरे प्रदेश में 20 मई से पहले इन समितियों का गठन करने का निर्देश दिया है।

रजिस्टर पर लगे शिक्षकों की फोटो : मंगलवार को योजना भवन में विभाग के कामकाज की समीक्षा के लिए बुलाई गई बैठक में उन्होंने स्कूलों में शिक्षकों की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने पर जोर दिया। फर्जी शिक्षकों के पढ़ाने की शिकायतों के मद्देनजर उन्होंने स्कूलों में उपस्थिति रजिस्टर के पहले पन्ने पर सभी शिक्षकों की फोटो लगाने का निर्देश दिया।

अनुपस्थित बच्चों के घर जाएं शिक्षक : स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए मंत्री ने जनसहभागिता बढ़ाने के साथ जागरूकता अभियान चलाने के लिए कहा। बच्चों की अनुपस्थिति पर प्रधानाचार्य और शिक्षक को उनके घर जाकर अभिभावकों से संपर्क करने की हिदायत दी। मंत्री ने कहा कि हर अधिकारी एक परिषदीय स्कूल को गोद ले।

सफाई पर जोर : मंत्री ने स्कूलों में सफाई का कार्य ग्राम पंचायत स्तर पर तैनात सफाई कर्मी से नियमित रूप से कराने का निर्देश दिया। मंत्री ने प्राथमिकता के आधार पर स्कूलों में विद्युतीकरण कार्य पूर्ण कराने का निर्देश दिया।

नई यूनिफॉर्म में नजर आएंगे बच्चे परिषदीय स्कूलों के बच्चे जुलाई से गहरे गुलाबी व लाल रंग की चेकदार शर्ट और भूरे रंग की पैंट/स्कर्ट में नजर आएंगे। परिषदीय स्कूलों में बच्चों को दी जाने वाली नई यूनिफॉर्म को प्रदर्शित किया।

सभी छात्रों को आधार से जोड़ें  मंत्री ने कक्षा एक से आठ तक के सभी छात्र-छात्रओं को आधार नंबर से जोड़ने के भी निर्देश दिए। बच्चों के अनुपात के अनुरूप कलासरूम और शौचालय की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए कहा। अधिकारियों को रोजाना स्कूलों का निरीक्षण करने तथा वर्तमान शिक्षा व्यवस्था को सुधारने की हिदायत दी। चेताया भी कि अधिकारी कर्मचारी की लापरवाही पाये जाने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। 1
भोजन की निगरानी करेंगी माताओं की छह सदस्यीय समितियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *