नोटिस बोर्ड व हाजिरी रजिस्टर पर लगेगी शिक्षकों की फोटो

प्राय: सुनने में आता था कि कुछ अध्यापक अपने स्थान पर दूसरे व्यक्ति को रखकर बच्चों को पढ़वाने का कार्य करते थे। बेल्हा में भी पूर्व में इस तरह के मामले सामने आए थे। अब वह ऐसा नहीं कर सकेंगे। इसे शासन ने संज्ञान में लेते हुए विद्यालयों के नोटिस बोर्ड पर श्रेणीवार शिक्षकों के फोटोग्राफ्स लगाए जाने के निर्देश दिए हैं। शिक्षा निदेशक बेसिक नीना श्रीवास्तव ने इस संदर्भ में निर्देश जारी किए हैं।

उन्होंने मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक एवं बेसिक शिक्षा अधिकारियों को शुक्रवार को पत्र भेजकर प्राक्सी टीचर (बाहरी शिक्षक) पर प्रतिबंध लगाने को सभी परिषदीय व सहायता प्राप्त प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत श्रेणीवार शिक्षकों के फोटोग्राफ्स नोटिस बोर्ड पर लगवाने का निर्देश दिया है।

नोटिस बोर्ड पर शिक्षकों की फोटो रहेगी तो स्कूल के बच्चे, अभिभावक उसे पहचानेंगे। इससे बाहरी तत्वों को स्कूल में बच्चों को पढ़ाने से रोका जा सकेगा। इसके लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सभी शिक्षक संगठनों एवं खंड शिक्षा अधिकारियों के साथ बैठक कर इस ¨बदु पर चर्चा की और एक जुलाई से इस पर प्रभावी कार्य किया जाए। उन्होंने शासन के निर्देश से सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को अवगत करा दिया है। उनसे पहली जुलाई को सभी 2800 विद्यालयों उपस्थिति रजिस्टर पर नाम मोबाइल नंबर व फोटो लगवाने को कहा है। इसके साथ ही विद्यालय की रंगाई पोताई के बाद वाल पेंटिंग में अधिकारियों के नाम सही लिखे जाएं।

जिले के सभी परिषदीय एवं सहायता प्राप्त प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में बाहरी अध्यापकों के पढ़ाने पर रोक के लिए उपस्थित रजिस्टर एवं नोटिसबोर्ड पर श्रेणीवार शिक्षकों की फोटो व मोबाइल नंबर अंकित कराने का निर्देश दे दिया गया है। बीएन सिंह, बीएसए प्रतापगढ

ग्राम पंचायत ठीक कराएंगी स्कूलों के हैंडपंप प्रतापगढ़ : जिले के परिषदीय प्राथमिक एवं पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में खराब पड़े हैंडपंपों को ग्रामपंचायतों के माध्यम से दुरुस्त कराया जाएगा।

डीएम शरद कुमार सिंह ने विद्यालयों के रीबोर योग्य हैंडपंपों एवं मरम्मत योग्य हैंडपंपों के रखरखाव का कार्य 14 वें वित्त की धनराशि से ग्रामपंचायतों के माध्यम से कराने की बात कही है। बीएसए बीएन सिंह ने सभी स्कूलों के प्रधानाध्यापकों को निर्देश दिया है कि जहां हैंडपंपों में खराबी हो उसे तत्काल ग्राम प्रधानों से संपर्क कर उसे ठीक करा लें।

उन्होंने बताया कि विद्यालय की चहरदीवारी की मरम्मत एवं विद्यालय के अन्य मरम्मत के कार्य भी ग्रामपंचायतों के माध्यम से 15 दिन में परूण करा लें। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने जारी किए जनपद के सभी स्कूलों को निर्देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *