शिक्षकों के नौ हजार पद प्रतिनियुक्ति से भरेंगे

लखनऊ  कैबिनेट ने rajkiya inter college और राजकीय हाईस्कूलों में LT grade teachers के खाली चल रहे 9,342 पदों पर 20 जिलों के surplus teachers को प्रतिनियुक्ति पर तैनात करने का फैसला किया है। यह भी फैसला किया है कि रिटायर सरकारी और अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों को भी एलटी ग्रेड के रिक्त पदों पर मानदेय पर नियुक्त किया जाएगा। सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश के राजकीय इंटर कालेजों और राजकीय हाईस्कूलों में L T Grade के sahayak adhyapak के 9,342 पद खाली हैं। इनमें पुरुषों के 4,463 और महिलाओं के 4,879 पद शामिल हैं। इस कमी को पूरा करने के लिए कैबिनेट ने यह फैसला किया है कि वर्ष 2017-18 में एलटी ग्रेड के assistant teachers को प्रतिनियुक्ति पर तैनात किया जाएगा। मानव संसाधन विकास मंत्रलय ने देश भर के 11 lakh untrained teachers को पेशेवर प्रशिक्षण देने के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी है। जिन शिक्षकों ने 12वीं की पढ़ाई पूरी नहीं की है या जिनके 12वीं में पचास फीसदी से कम अंक हैं, उन्हें पेशेवर प्रशिक्षण के अलावा दोबारा इंटरमीडिएट की परीक्षा भी पास करनी होगी।

पढ़ें- राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में नियुक्त होंगे बेसिक शिक्षक

शिक्षकों के प्रशिक्षण का पंजीकरण शुरू

मानव संसाधन विकास मंत्रलय ने देश भर के 11 lakh untrained teachers को पेशेवर प्रशिक्षण देने के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी है। शिक्षकों को 15 सितंबर तक एनआईओएस की website पर खुद को पंजीकृत कराना है। मंत्रलय ने कहा कि जिन शिक्षकों ने 12वीं की पढ़ाई पूरी नहीं की है या जिनके 12वीं में पचास फीसदी से कम अंक हैं, उन्हें पेशेवर प्रशिक्षण के अलावा दोबारा इंटरमीडिएट की परीक्षा भी पास करनी होगी।

पढ़ें- 72,825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती में सात हजार पद खाली

इन शिक्षकों को मंत्रलय के स्वयं पोर्टल एवं डीटीएच चैनल स्वयंप्रभा के जरिये प्रशिक्षण दिया जाएगा। इन्हें डीएलईएड कोर्स कराया जाएगा। लेकिन बड़ी संख्या में शिक्षक ऐसे भी हैं जो 12वीं पास नहीं है या बारहवीं में पचास फीसदी से कम अंक हैं। जबकि 2010 से पूर्व शिक्षक बनने के लिए 12वीं में 50 फीसदी अंक लाने होते थे। ऐसे शिक्षकों को कहा गया है कि वे open school से दोबारा 12वीं पास करें। बता दें कि 11 lakh service untrained teachers में से सात लाख निजी स्कूलों में हैं। जबकि 2.5 lakh government schools में हैं।

पढ़ें- दो बड़े अखबारों में हो शिक्षक भर्ती का विज्ञापन

Government schools में 1.5 million teachers ऐसे हैं, जिन्होंने एक साल का प्रशिक्षण प्राप्त किया है तथा एक साल का बाकी है। केंद्र सरकार ने साफ किया है कि यह प्रशिक्षण का आखिरी मौका है। यदि इस बार चूक गए, तो फिर teacher के रूप में कार्य नहीं कर पाएंगे। शिक्षा के अधिकार कानून के तहत शिक्षकों के लिए Minimum educational qualification एवं पेशेवर योग्यता हासिल करना जरूरी है। सेवारत शिक्षकों को 2015 तक प्रशिक्षण प्राप्त करना था।

केंद्र का आदेश

12वीं कक्षा में 50 } से कम अंक पाने वाले दोबारा परीक्षा पास करें
पेशेवर प्रशिक्षण के लिए 15 सितंबर तक एनआईओएस में पंजीकरण कराए

Nine thousand posts of teachers will be filled with deputation

Nine thousand posts of teachers will be filled with deputation

One thought on “शिक्षकों के नौ हजार पद प्रतिनियुक्ति से भरेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *