विद्यालयों में सुबह होगी प्रार्थना मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश की पूर्व सरकारों ने बेसिक शिक्षा का स्तर काफी नीचे गिरा दिया। अब भाजपा सरकार को शिक्षा का स्तर सुधारने के लिए विशेष योजना बनानी पड़ी है। उन्होंने स्कूलों में सुबह की प्रार्थना कराने पर जोर दिया। कहा कि अगले सत्र से परिषदीय विद्यालयों में एनसीईआरटी की किताबें लागू होंगी व सीबीएसई बोर्ड की तर्ज पर पढ़ाई कराई जाएगी। वह बुधवार को ब्रजघाट के गांव आलमगीरपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय में बच्चों को बैग, किताब और ड्रेस वितरण के अवसर पर संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि स्कूल चलो अभियान के तहत पहली सरकारों में अक्टूबर-नवंबर माह में बच्चों को ड्रेस का वितरण किया जाता था। इस व्यवस्था को बदला गया है। अब एक जुलाई से ही स्कूली सत्र शुरू होते ही बच्चों को ड्रेस वितरण शुरू कराया गया है। प्रदेशभर में 59 हजार ग्रामसभाएं हैं। इनमें 1.60 लाख से अधिक प्राथमिक व प्राइमरी विद्यालय संचालित हो रहे हैं। इन स्कूलों में एक करोड़ 52 लाख ग्रामीण बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। पूर्व की सरकार में जब प्राथमिक विद्यालय के स्कूली बच्चे ड्रेस पहनकर जाते थे तो लगता था कि वह किसी स्कूल से नहीं बल्कि फैक्ट्री में काम करके लौट रहे हैं।

अब बच्चों को जो ड्रेस वितरित की गई हैं, उस प्रकार की ड्रेस कान्वेंट स्कूलों के बच्चों द्वारा पहनी जाती हैं। सरकार बच्चों को जूते और मोजे भी दे रही है। उन्होंने अधिक से अधिक आदर्श विद्यालय बनाने पर भी जोर दिया। कहा कि महापुरुषों की जयंती व क्रांतिकारियों के बलिदान दिवस पर राष्ट्रगान व राष्ट्रगीत भी गाए जाएंगे। महाराणा प्रताप सभी के लिए प्रेरणास्नोत हैं। उनसे प्रेरणा लेने वाला सच्चा देशभक्त है। यदि किसी दुश्मन देश को परास्त करना है तो सबसे पहले शिक्षण संस्थाओं में महापुरुषों के बारे में बताया जाना चाहिए। पीएम के रूप में नरेंद्र मोदी जैसा व्यक्ति मिला है, उनका व्यक्तित्व अनुसरणीय है।

विद्यार्थियों ने कहा, थैंक यू मुख्यमंत्री अंकल

जिस प्राथमिक विद्यालय में बच्चे पढ़ाई लिखाई के साथ-साथ खेलकूद करते थे, उस विद्यालय का मिजाज बुधवार को बदला हुआ था। विद्यार्थियों को किताब और ड्रेस वितरित करके सीएम ने स्कूल की अन्य कक्षाओं का निरीक्षण किया और बच्चों से वार्ता की। बाद में उन्होंने बच्चों को पढ़-लिखकर तरक्की करने का आशीर्वाद दिया। मुख्यमंत्री सुबह 11:50 बजे आलमगीरपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय पहुंचे। जहां पर बीस मिनट ठहरने के बाद उन्होंने विद्यालय की कक्षाओं का निरीक्षण किया।

कक्षा तीन की शिवानी और नेहा से वार्ता की। उन्होंने दोनों बच्चियों के सिर पर हाथ फेरा और उनसे पूछा कि स्कूल की ड्रेस कब मिली। दोनों बालिकाओं ने बताया कि आज ही उन्हें ड्रेस दी गई हैं। उन्होंने पूछा कि यह ड्रेस अच्छी लगती है, या फिर पहले की सरकार में खाकी रंग की ड्रेस अच्छी थी। दोनों बच्चियों ने कहा कि इस ड्रेस में वे अच्छी लग रही हैं। मुख्यमंत्री ने अन्य कक्षाओं में जाकर भी बच्चों से बातचीत की।

मुख्यमंत्री से मिलकर बच्चों और उनके अभिभावकों में खुशी दिखाई दी। विद्यार्थियों ने कहा, थैंक यू मुख्यमंत्री अंकल। स्कूल के शिक्षक भोपाल सिंह यादव ने बताया कि बच्चों के बीच मुख्यमंत्री को देखकर वह काफी खुश है। बच्चों ने कहा कि वह काफी खुश हैं कि उनके स्कूल में प्रदेश के मुख्यमंत्री आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *