जुलाई गई, नहीं पहुंचीं सारी पाठ्य पुस्तकें

प्रतापगढ़ जुलाई माह बीत चुका है और अभी तक परिषदीय स्कूलों के बच्चों को सारी पाठ्यपुस्तकें नहीं मिल सकी हैं। ऐसे में सब पढ़ें सब बढ़ें का नारा खोखला साबित हो रहा है।

बेसिक शिक्षाविभाग की मानें तो अभी तक जिले में 68 फीसद पाठ्य पुस्तकें ही पहुंची हैं। इनमें से 98 फीसद पुस्तकों का वितरण बच्चों में कराया गया है। इसी प्रकार 68 फीसद बच्चों में यूनीफार्म का वितरण हुआ है।

उधर मुख्यमंत्री का संभावित दौरा भी सूबे के जनपदों में होना है। इसे लेकर बीएसए ने जनपद में शिक्षा व्यवस्था को चुस्त व दुरस्त करने की तैयारी शुरू कर दी है। उन्होंने सभी खंडशिक्षा अधिकारियों से कहा है कि वह अपने विकास खंडों में प्रधानाध्यापकों की बैठक कर स्कूलों में पाठ्य पुस्तकों, यूनीफार्म वितरण तथा एमडीएम व्यस्था के संचालन आदि की समीक्षा करें।

उन्होंने कहा कि विद्यालयों में साफ सफाई के साथ ही परिसर को हरा भरा रखने के लिए फलदार पौधे लगाए जाएं। शासन से मिली 68 फीसद निश्शुल्क पाठ्य पुस्तकों का शतप्रतिशत वितरण कराया जाए।’>>बेल्हा पहुंचीं पुस्तकों में से 98 का हुआ वितरण

अब तक 32 फीसद बच्चों को नहीं मिल सकी यूनीफार्मजिले में शासन से 68 फीसद पाठ्य पुस्तकें प्राप्त हुई हैं। उनका वितरण लगभग 98 प्रतिशत हो चुका है। 68 प्रतिशत बच्चों को यूनीफार्म दी जा चुकी है। जल्द ही सभी बच्चों को यूनीफार्म दे दी जाएगी। बीएन सिंह, बीएसए प्रतापगढ़।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *