हर डायट पर दी जाएगी UPTET की कोचिंग

मुख्यमंत्री योगी से वार्ता के बाद प्रदेश सरकार शिक्षामित्रों की रह आसान करने में जुट गई है। बुधवार को अधिकारियों ने शिक्षामित्र प्रतिनिधियों के साथ बैठक की और उनके प्रस्तावों पर विचार किया। शिक्षामित्रों के मामले में अभी कोई अंतिम सहमति तो नहीं बनी है लेकिन, शिक्षामित्रों ने वार्ता को सार्थक बताया है। शासन ने शिक्षामित्रों के मामले पर विचार के लिए पांच वरिष्ठ अधिकारियों की समिति बनाई है। बुधवार को शिक्षामित्र प्रतिनिधियों गाजी इमाम आला, जितेंद्र शाही और दीनानाथ दीक्षित ने अपर मुख्य सचिव राज प्रताप सिंह की अध्यक्षता में समिति ने बैठक की। इसमें बैठक में प्रमुख सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी व समाज कल्याण विभाग व वित्त विभाग व न्याय विभाग के अधिकारी भी शामिल रहे। बैठक में शिक्षामित्रों ने समान कार्य समान वेतन के आधार पर अपनी बातें इस समिति के सामने रखी और आश्रम पद्धति विद्यालयों की तर्ज पर नियुक्ति करने के लिए कहा। इस पर अधिकारियों ने बताया कि उनके लिए भी TET अनिवार्य कर दिया गया है। इस पर शिक्षामित्र प्रतिनिधियों ने सूचना अधिकार कानून में हुए एक संशोधन का हवाला दिया। लेकिन, बैठक में किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा जा सका। अंत में शिक्षामित्र प्रतिनिधियों ने सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता से विधिक राय लेने की बात कही। अधिकारियों ने इस पर सहमति जताई। शिक्षामित्रों की ओर से उनके प्रतिनिधि जितेंद्र शाही ने वार्ता को सार्थक बताया।

पढ़े – शिक्षामित्रों 5 सितंबर को यूपी विधानसभा का घेराव करेंगे

हर डायट पर दी जाएगी यूपीटीईटी की कोचिंग

लखनऊ: राज्य सरकार शिक्षामित्रों की मदद के लिए इस साल अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) की तैयारी के लिए कोचिंग भी कराएगी। शासन द्वारा ये कोचिंग हर जिले में एक सितम्बर से शुरू होगी। अध्यापक पात्रता परीक्षा की कक्षाओं समय एक घंटा है इन कक्षाओं टीईटी का अभ्यर्थी निशुल्क कोचिंग कर सकेगा। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया हैं। ये कक्षाएं सभी जिलों के जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थानों (डायट) में चलेंगी। रोजाना इन एक घंटे की कक्षाओं में डायट के शिक्षक पढ़ाएंगे। बीटीसी या बीएड प्राप्त कोई भी अभ्यर्थी आकर इन कक्षाओं से लाभ ले सकता है। इसके लिए ज्यादातर डायटों में शिक्षकों की टीम चुन ली गई है। यदि कोचिंग में अभ्यर्थी बढ़ेंगे तो दो कक्षाएं भी ली जा सकती हैं। दरअसल बीते दिनों एक बैठक में शिक्षा मित्रों ने सरकार के सामने समस्या रखी थी कि वे बहुत दिनों से पढ़ाई से दूर हैं इसलिए उन्हें टीईटी पास करने में दिक्कत होगी। यही कारण है कि वे टीईटी से छूट की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार ने टीईटी से छूट की बजाय कोचिंग का फैसला किया है।

पढ़े – शिक्षामित्रों का मुद्दा सुलझाएगी कमेटी

यू-ट्यूब से भी करें यूपी TET 2017 की तैयारी

इलाहाबाद: नौकरी पाने और नौकरी की तयारी करने के लिए आज काल सोशल मीडिया का भी सहारा खूब लिया जा रहा है। उत्तर प्रदेश की शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी-टीईटी) 2017 प्रस्तावित 15 अक्तूबर का ऐलान हुआ है तब से शिक्षामित्र सोशल मीडिया का खूब यूज़ कर रहे है। यूपी-टीईटी) 2017 की तैयारी कराने में यू-ट्यूब भी पीछे नहीं है। रोज नित नए यूपी-टीईटी की तैयारी संबंधित पाठ्य सामग्री और विडिओ अपलोड हो रहे है। इस पाठ्य सामग्री को बेरोजगार खूब पसंद भी कर रहे हैं। यू-ट्यूब पर आगे आप यूपीटीईटी 2017 प्रिपरेशन सर्च करते हो तो आधा दर्जन से अधिक वीडियो आ जाते हैं। प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए अलग-अलग वीडियो उपलब्ध हैं। इन विडिओ को 14 हजार तो किसी को 29 और 37 हजार लोगों ने देखा है। ज़्यदातर वीडियो निजी लोगों और कोचिंग सेंटरों ने अपलोड किये है। इनमें से कई वीडियो यूपी-टीईटी परीक्षा पास कराने की शत-प्रतिशत गारंटी तक ले रहे हैं।

पढ़े – TET Coaching for Shikshamitra

छह दिन में 1.60 लाख ने कराया रजिस्ट्रेशन :

यूपीटीईटी 2017 की परीक्षा के लिए पिछले छह दिन में लगभग 1.60 लाख अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। जैसे-जैसे आवेदन की आखिरी तारीक नजदीक आती जा रही वैसे वैसे आवेदकों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने 25 अगस्त की दोपहर बाद से ऑनलाइन पंजीकरण शुरू किया था। मंगलवार की शाम तक करीब 88 हजार अभ्यर्थियों ने टीईटी के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। लेकिन बुधवार की शाम तक यह संख्या बढ़कर 1.60 लाख तक पहुंच गई। ऑनलाइन पंजीकरण आठ सितंबर की शाम छह बजे तक ही किया जा सकेगा। आवेदन शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि 11 सितंबर है।

UPTET 2017 में बढ़ने लगे दावेदार

TET 2017 के लिए बुधवार को शाम छह बजे तक एक लाख 60 हजार अभ्यर्थियों ने दावेदारी कर दी है। यह प्रक्रिया बीते 25 अगस्त को दोपहर बाद से शुरू हुई थी, जो 13 सितंबर तक चलेगी। माना जा रहा है कि इस बार दस लाख से अधिक आवेदक होंगे। परीक्षा 15 अक्टूबर को होनी है।

शिक्षामित्रों के बकाये का जल्द होगा भुगतान

लखनऊ : Shikshamitra की मांगों के समाधान के लिए बनी शासन की उच्च स्तरीय कमिटी और Shiksha Mitra संगठनों की बैठक बुधवार को हुई। इस दौरान shikshamitra संगठनों ने समान कार्य व समान वेतन, टीईटी से छूट जैसी अपनी मांगें फिर दोहराई। कमिटी ने मांगों पर विधिक पहलुओं से विचार करने का आश्वासन दिया। इस दौरान शिक्षामित्रों के बकाया भुगतान जल्द करने पर भी सहमति बनी। अपर मुख्य सचिव राजप्रताप सिंह की अध्यक्षता में बनी कमिटी के समक्ष शिक्षामित्र संगठनों के नेताओं जितेंद्र शाही, गाजी इमाम, अनिल यादव सहित अन्य पदाधिकारियों ने अपनी बात रखी।

Coaching of UPTET will be given on every diet

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *