महिला शिक्षामित्र बच्चों लेकर धरने पर बैठीं

Adarsh Samayojit Shikshak Welfare Association ने रविवार को चौथे दिन भी कचहरी में अपना आंदोलन जारी रखा। वह अपने बच्चों के साथ धरने में पहुंची। एसोसिएशन की जिलाध्यक्ष एवं प्रांतीय सचिव रीना सिंह ने कहा कि प्रदेश के मुखिया पांच दिनों में कोई ठोस हल नहीं निकाल सके। वह निर्णय लेने के बजाय धमकी दे रहे हैं। उनकी धमकी से shiksha mitra डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने कहा कि आंदोलन ही एक मात्र रास्ता बचा है। इसमें चूके तो कहीं के नहीं रहोगे। पूर्ण मनोयोग से आंदोलन चलता रहा तो मुख्यमंत्री ही नहीं प्रधानमंत्री को भी बोलना पड़ेगा और अध्यादेश लाना होगा। जिला महामंत्री रामकृष्ण विश्वकर्मा ने कहा कि सरकार की चुप्पी इस बात को साबित करती है कि सरकार आंदोलन को दबाने की कोशिश कर रही है।

उन्होंने भाजपा के संकल्पपत्र को याद कराते हुए कहा कि यदि उनकी नौकरी गई तो भाजपा की कथनी और करनी में अंतर नजर आएगा। इस दौरान पंकज सिंह, सरला सिंह, जगतपाल यादव, कमलेंद्र सिंह, संतोष यादव, प्रदीप शुक्ल, राजकुमार शुक्ल, सुरेश चौधरी, देवेंद्र पुष्पाकर, अदित्य नारायण तिवारी, राजेंद्र, नरेंद्र सिंह, विवेक सिंह, कुसुम सिंह, माधुरी त्रिपाठी, अनिल मिश्र आदि मौजूद रहे। एसोसिएशन की जिलाध्यक्ष रीना सिंह ने बताया कि सोमवार को कचहरी में दस बजे से धरना प्रदर्शन होगा। इसमें मुख्यमंत्री की बुद्धि की शुद्धि के लिए यज्ञ किया जाएगा।

अनुदेशकों ने दिया समर्थन : shiksha mitron के आंदोलन को अनुदेशकों ने समर्थन दिया है। रविवार को कचहरी में हुए धरने के दौरान uchch prathmik anudeshak welfare association के प्रांतीय अध्यक्ष तेजस्वी शुक्ला ने कहा कि शिक्षामित्रों के साथ अन्याय हुआ है। संकट की इस घड़ी में उनका संगठन shiksha mitron के साथ खड़ा है। जब भी कहा जाएगा सभी अनुदेशक स्कूलों मे न जाकर धरने में साथ बैठे नजर आएंगे।

 20 अगस्त तक होगा छूटे अनुदेशकों का नवीनीकरण: प्रतापगढ़ : uchch prathmik anudeshak welfare association के तत्वावधान में बाबाबेलखरनाथ धाम मे ब्लाक के अनुदेशकों की बैठक की गई। अध्यक्षता संगठन के प्रदेश अध्यक्ष तेजस्वी शुक्ला ने की। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रतापगढ़ जनपद मे तैनात अनुदेशकों में जिनका 2017-18 सत्र मे छात्र संख्या 100 की कम होने की वजह से नवीनीकरण नहीं हुआ है।

उसके लिए district basic education officer से बात की गई है। उन्होंने ऐसे अनुदेशकों को 20 अगस्त 2017 तक का समय दिया है कि छात्र संख्या 100 से या 100 से ऊपर करने वाले अनुदेशकों का नवीनीकरण जांच के बाद कर दिया जायेगा। संचालन ब्लाक अध्यक्ष प्रवीण मिश्र ने किया। अखण्ड प्रताप, राजेश, नितेश, पुष्पा, जगदीश, मंजू, बींजू आदि अनुदेशक उपस्थित रहे।

पढ़ें- समायोजन रद्द होने के बाद शिक्षामित्र सड़क पर उतरे

female shiksha mitra sitting on protest with baby

shiksha mitra latest news today hindi पढ़ने के लिए आप हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब कर सकते है। जिससे आपको हमारे ब्लॉग की लेटेस्ट पोस्ट का नोटिफिकेशन मिल सके।

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.