माध्यमिक स्कूलों में बायोमेट्रिक हाजिरी की तैयारी

UP Madhyamik College का नया शिक्षा सत्र एक जुलाई से शुरू होगा। इस बार नए शिक्षा सत्र में शिक्षकों सहित विद्यार्थियों की बायोमैट्रिक हाजिरी लगेगी। District Inspector of Schools ने सभी प्रधानाचार्यों को स्कूलों में बायोमैट्रिक मशीन लगाने को कहा है।

नए सत्र में स्कूलों में साफ-सफाई, सामूहिक प्रार्थना के बाद बच्चों में देशभक्ति भावना जागृत करने, वाद-विवाद, भाषण, पोस्टर, निबंध प्रतियोगिता, अंताक्षरी, स्काउट-गाइड कार्यक्रमों के आयोजन कराने, खेल को बढ़ावा देने, पर्यावरण संरक्षण से छात्रों को जोड़ने के निर्देश भी प्रधानाचार्यों को पत्र भेजकर दिए गए है। डीआइओएस एसपी यादव ने कहा कि इस बार पढ़ाई-लिखाई में कमजोर बच्चे चिह्न्ति कर उनके लिए अतिरक्त समय

में क्लास संचालित कराई जाएंगी। स्कूल पत्रिका निकालने, विज्ञान क्लब गठित कराने की हिदायत भी प्रधानाचार्यों को दी है। जिससे छात्र-छात्रओं का साहित्यिक और मानसिक विकास हो सके। स्कूलों में पौधरोपण भी सत्र की शुरुआत से ही कराया जाएगा। सभी प्रधानाचार्यों को शैक्षिक पंचांग के अनुसार पाठ्यक्रम का विभाजन कर बच्चों को पढ़ाने के दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

140 फीसद स्कूलों में हैं कैमरे: 2017 की बोर्ड परीक्षाओं में प्रशासन की सख्ती के कारण 500 में से 202 परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरा लग चुके हैं। वहीं अभी तक बायोमैट्रिक हाजिरी से संबंधित कोई भी विद्यालय संतृप्त नहीं हुआ है, लेकिन आए दिन जारी हो रहे निर्देशों के बाद जल्दी ही व्यवस्थाएं जुटाने में राजकीय और सहायता प्राप्त स्कूल जुटने लगे हैं।

पढ़ें- Preparation to make parishadiya school teacher accountable

41 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *