बेसिक शिक्षा विभाग में चल रही मनमानी

बदायूं : बेसिक शिक्षा विभाग में सुधार कराने के लिए अधिकारी उनसे सीधे शिकायत करने की बात कहते हैं, लेकिन जो शिकायतें प्राप्त होती हैं, उनपर की जाती। आलम है कि तहसील दातागंज के एक एडेड स्कूल में प्रधानाचार्य पद पर तैनाती के संबंध में तीन बार लिखित में साक्ष्यों सहित शिकायत करने के बाद भी कोई निस्तारण नहीं किया जा रहा। इसके अलावा मौखिक रूप से भी शिकायतकर्ता कई बार बीएसए से मिल चुके हैं। उन्होंने एक बार फिर बीएसए से शिकायत कर मामले की स्पष्ट जांच कराने की मांग की है। साथ ही संबंध कॉलेज के प्रबंधक से आरटीआइ के माध्यम से सूचना मांगी गई है।

तहसील दातागंज के हसनपुर के जूनियर हाईस्कूल की विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष प्रदीप किशोर गुप्ता उर्फ श्याम गुप्ता व उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र गुप्ता ने आरोप लगाया है कि यहां तैनात किए गए प्रधानाचार्य की नियुक्त फर्जी तरीके से नियम विरूद्ध की गई है। तैनात किए गए प्रधानाचार्य विद्यालय प्रबंध समिति के सदस्य हैं, इसके बाद भी नियमों का दरकिनार कर उन्हें प्रधानाचार्य बनाया गया है। रजिस्ट्रार के अभिलेखों में वह आज भी साधारण सभा के सदस्य के रूप में हैं। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि नियुक्ति की जानकारी अध्यक्ष, उपाध्यक्ष या किसी भी सदस्य को नहीं दी गई। गुपचुप तरीके से सभी कार्य हो गए।

उन्होंने बताया कि सदस्यता के संबंध में प्रधानाचार्य की दर्शाए गए प्रमाण पत्र संदिग्ध हैं। जिसमें उन्होंने अपने नियमानुसार पांच वर्ष के अनुभव की जानकारी दी है, जबकि उनका अनुभव मात्र एक वर्ष 2014-15 का है। खंड शिक्षा अधिकारी ने उपस्थिति पंजिका के अनुसार एक वर्ष का ही अनुभव ही बताया है। सहायक शिक्षा निदेशक ने भी नियुक्ति विषयक पत्रवली में प्रबंध कार्यकारिणी के प्रस्ताव की कॉपी न होने की बात कही। उन्होंने बताया कि 4 फरवरी वर्ष 2016, 19 नवंबर वर्ष 2016, 19 दिसंबर वर्ष 2016 को भी यही शिकायत की थी, लेकिन विभाग ने निस्तारण की चुप्पी साधी है। उन्होंने प्रधानाचार्य पद पर हुई नियुक्ति को अवैध बताते हुए निरस्त करने की मांग की है। अन्यथा की स्थिति में कोर्ट जाने की चेतावनी दी है।

शिकायत की जानकारी देते विद्यालय प्रबंध समिति के उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र गुप्ता ’नियुक्ति के संबंध में आख्या मांगी गई है। बरेली के खंड शिक्षा अधिकारी की ओर से जारी हुए अनुभव प्रमाण पत्र के आधार पर जांच हो रही है। जिसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी। – प्रेमचंद यादव, बीएसए’

बीएसए से की गई बार शिकायत पर नहीं हुई सुनवाई कॉलेज के प्रबंधक से आरटीआइ के तहत मांगी सूचना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *