95 फीसदी ने दी शिक्षक भर्ती परीक्षा, परिणाम 22 जनवरी को उत्तर कुंजी 8 जनवरी को जारी होगी

प्रयागराज : बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 69000 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए रविवार को प्रदेश में हुई लिखित परीक्षा में 95.13 फीसद अभ्यर्थियों ने उपस्थिति दर्ज कराई। कुल 800 केंद्रों पर 4,10,440 अभ्यर्थी परीक्षा देने पहुंचे। अभ्यर्थियों की इस बड़ी तादाद के चलते हर एक सीट पर मुकाबला कांटे का हो गया है। शुचिता के लिहाज से बेहद चुनौतीपूर्ण मानी जा रही इस परीक्षा पर शासन की भी नजर रही। परीक्षा का परिणाम 22 जनवरी को आएगा जबकि उत्तर कुंजी आठ जनवरी की शाम तक जारी होगी।

प्रदेश के सभी 18 मंडल मुख्यालयों में परीक्षा निर्धारित समय दिन में 11 बजे शुरू और डेढ़ बजे खत्म हुई। इस ढाई घंटे की अवधि में अभ्यर्थियों को 150 प्रश्नों के उत्तर ओएमआर शीट पर देने थे। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय की ओर से 4,31,466 अभ्यर्थी इसके लिए पंजीकृत थे। इनमें 4,30,479 अभ्यर्थियों को ऑनलाइन प्रवेश पत्र दिए गए थे जबकि तीन जनवरी 2019 को हुए शासनादेश और हाईकोर्ट की ओर से पारित आदेश के अनुपालन में 987 अभ्यर्थियों को ऑफ लाइन प्रवेश पत्र दिए गए। कुल पंजीकृत के सापेक्ष 4,10,440 की उपस्थिति दर्ज हुई, 21026 अभ्यर्थी परीक्षा देने नहीं पहुंचे। परीक्षा केंद्रों पर वॉयस रिकॉर्डिग युक्त सीसीटीवी कैमरे सक्रिय रखे गए तो कक्ष निरीक्षक अभ्यर्थियों पर पैनी नजर बनाए रहे। कई जिलों में सॉल्वर समेत कई नकलची पकड़े गए । अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉ.प्रभात कुमार ने बताया कि परीक्षा में सेंध लगाने की असफल कोशिशों के छिटपुट मामलों से इतर परीक्षा शांतिपूर्ण रही। परीक्षा को साफ-सुथरे ढंग से संपन्न कराने के लिए विभाग की ओर से की गई व्यापक तैयारियों का यह परिणाम है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने भी परीक्षा को शांतिपूर्ण बताया।

प्रयागराज : प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक भर्ती मुख्य परीक्षा जिले के 105 विद्यालयों में रविवार को आयोजित की गई। इसमें 95.59 प्रतिशत उपस्थिति रही। परीक्षा के लिए 53,228 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। इसमें 50878 अभ्यर्थी शामिल हुए। परीक्षा में अंग्रेजी, सामान्य अध्ययन और करंट अफेयर से संबंधित प्रश्न पूछे गए। परीक्षार्थियों का कहना है कि अंग्रेजी और करंट अफेयर प्रारंभिक परीक्षा की अपेक्षाकृत आसान था।

हालांकि गणित, मनोविज्ञान और संस्कृत के प्रश्न कठिन रहे। परीक्षा सुबह 11 से दोपहर डेढ़ बजे के मध्य आयोजित की गई। निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर सुबह से परीक्षार्थियों का जमावड़ा रहा। नगर से बाहर और अंचल के अभ्यर्थी समय से काफी पहले परीक्षा केंद्रों पर जुटने लगे। आधे घंटे पहले विद्यालयों का गेट खोल दिया गया। नकलविहीन परीक्षा के लिए 35 सेक्टर मजिस्ट्रेट और 105 स्टेटिक मेजिस्ट्रेट और 210 पर्यवेक्षक लगाए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.