69000 शिक्षक भर्ती परीक्षा निरस्त करने की मांग को लेकर सातवें दिन भी जारी रहा धरना

UP 69000 sahayak adhyapak bharti – 69000 प्राथमिक शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा का पेपर आउट होने का आरोप लगाते हुए परीक्षा निरस्त करने की मांग कर रहे प्रतियोगियों का परीक्षा नियामक प्राधिकारी (पीएपी) दफ्तर पर चल रहा धरना रविवार को सातवें दिन भी जारी रहा।

जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष एन साईं बालाजी, पंजाब विश्वविद्यालय की छात्रसंघ अध्यक्ष कनुप्रिया ने प्रतियोगियों के आंदोलन का समर्थन किया है। इस मौके पर हुई सभा में 69000 शिक्षक भर्ती न्याय मोर्चा के तहत चल रहे आंदोलन का नेतृत्व कर रही अनुराधा तिवारी ने कहा कि परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव पेपर आउट होने की बात नहीं मान सकते, क्योंकि परीक्षा की पूरी जिम्मेदारी सचिव की ही होती है जबकि साक्ष्य से यह बात साबित होती है कि पेपर व्यापक पैमाने पर आउट हुआ है।

न्याय मोर्चा ने 17 जनवरी को पीएपी दफ्तर पर विशाल प्रदर्शन करने की घोषणा की है। धरना स्थल पर सुनील मौर्य, समरीन अंजुम, सुनील यादव, अलाउद्दीन अली, विवेक दुबे, सुषमा पटेल, कोमल गुप्ता, अंजू, पारुल, यामिनी भास्कर, अर्चना, शैलेश मौर्य, निरंजन देव, अंशुमान सिंह, एसपी कौशल, रामप्यारे यादव, राहुल गौड़, श्रीकृष्ण, संजय, शैलेश पासवान, हेमंत आदि उपस्थि थे।

पढ़ें- Failure law implement for 5th to 8th class

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.