68,500 शिक्षक भर्ती दो चरण में, हर बार आवेदन शुल्क भी

प्रदेश में 68,500 शिक्षक भर्ती की खूब चर्चा हो रही, लेकिन इन शिक्षक भर्ती में हर रोज एक नया मोड़ आ जाता है। इन भर्तियों को रोकने के लिए कोर्ट में 2 याचिकाएं दाखिल हो चुकी है। अब देखना यह है कि क्या ये याचिकाएं इस भर्ती प्रक्रिया को रद्द करा पायेगी। इस भर्ती प्रक्रिया में एक नया मोड़ ओर आया है। एक भर्ती प्रक्रिया के लिए दो बार आवेदन और हर बार आवेदन शुल्क भी लिया जायेगा।

पढ़ें- सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा को लेकर कोर्ट में दाखिल हुई दो याचिकाएं

68,500 सहायक अध्यापक शिक्षक भर्ती एक है, लेकिन इसको दो चरण में बांटा गया है और हर चरण के लिए आवेदन शुल्क भी देना होगा। पहले चरण में लिखित परीक्षा होगी, लिखित परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी से 600 रुपये आवेदन शुल्क लिया जाएगा। जो अभ्यर्थी लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण हो जाते है, उनको शिक्षक भर्ती में भाग लेने के लिए फिर से आवेदन शुल्क देना होगा। लिखित परीक्षा के लिए आवेदन 25 जनवरी से लिए जाने हैं।

पढ़ें- 68,500 सहायक अध्यापकों भर्ती प्रक्रिया को हाई कोर्ट में चुनौती

प्रदेश सरकार शिक्षक भर्ती के लिए लिखित परीक्षा पहली बार करवा रही है। शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा के लिए आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों से 400 रुपये और सामान्य व ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों से 600 रुपये आवेदन शुल्क ले रही है। इसमें उत्तीर्ण होना केवल पात्रता भर है। लिखित परीक्षा में पास होने वाले अभ्यर्थी ही शिक्षक भर्ती का हिस्सा बनेंगे।

पढ़ें- 68500 सहायक अध्यापकों की लिखित परीक्षा विज्ञप्ति 23 को

बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इसके बाद जब 68,500 पदों पर भर्ती शुरू होगी तो फिर से आवेदन मांगे जाएंगे और लगभग इतना ही शुल्क फिर देना होगा। लिखित परीक्षा का रिजल्ट मई में आएगा और इसके बाद ही शिक्षक भर्ती शुरू होगी। अधिकारियों के मुताबिक, परीक्षा का खर्चा निकालने के लिए आवेदन शुल्क लिया जाता है।

68,500 सहायक अध्यापक शिक्षक भर्ती लिखित परीक्षा में सफल अभ्यर्थी से आवेदन लिए जाएंगे और इनके
60 फीसदी लिखित परीक्षा के अंक और 40 फीसदी शैक्षिक गुणांक जोड़ कर मेरिट तैयार की जाएगी।

68,500 teacher recruitment in two stages, every time the application fee

68,500 shikshak bharti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.