68500 सहायक शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा अनियमितताओं का पुलिंदा बनती जा रही, परिणाम में 37 तो स्कैन कॉपी में मिले 87 अंक

उत्तर प्रदेश में सहायक शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा अब अनियमितताओं का पुलिंदा बनती जा रही है। लिखित परीक्षा में कॉपी बदलने का एक और मामला सामने आया है। शिक्षक भर्ती में अल्जिता चौधरी की कॉपी बदलने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। इस मामले की खास बात यह है कि अल्जिता चौधरी की कॉपी का मुख पृष्ठ सही है लेकिन अंदर के पेज किसी और अभ्यर्थी के लगाकर उसे कॉपी दी गई है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से मिली स्कैन कॉपी और परीक्षा के समय तैयार की कई कार्बन कॉपी के मिलान से इस गड़बड़ी का खुलासा हुआ है। स्कैन कॉपी और परीक्षा के समय तैयार कार्बन कॉपी के अंकों में अंतर पाया गया।

प्राथमिक स्कूलों के लिए हुई शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा का परिणाम आने के बाद से अभ्यर्थियों ने हंगामा शुरू कर दिया। शिक्षक भर्ती में प्रत्येक दिन नित नए खुलासे हो रहे है। तजा मामले में फैजाबाद के ग्राम दादेरा निवासिनी अल्जिता चौधरी पुत्री अशील चौधरी का मामला सामने आया है। कोर्ट के आदेश पर अल्जिता चौधरी अनुक्रमांक 59590200732 को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से स्कैन कॉपी शुक्रवार को दी गई है।

‘डी’ सीरीज की कॉपी का जब उसने कार्बन कॉपी से मिलान किया तो वो हतप्रभ रह गई। उसका दावा है कि मुख पृष्ठ के अलावा अंदर के पेज उसके नहीं है। अल्जिता ने दबा किया है कि प्रश्न संख्या 77 के उत्तर में उसने भाव वाच्य लिखा था, जबकि कॉपी में भाव वाचक लिखा है। उसका मानना कि प्रश्न संख्या 78 के उत्तर में लिखावट का अंतर है। अभ्यर्थी का कहना है कि प्रश्न संख्या 82 में उसने ‘पूर्व दिशा पांच किलोमीटर दूर है’ लिखा था, जबकि स्कैन कॉपी में ‘पांच किलोमीटर व दक्षिण दिशा’ लिखा है। अभ्यर्थिनी ने स्कैन व कार्बन कॉपी को सबूत के तौर पर दिया है। उधर, परीक्षा नियामक कार्यालय के अफसरों का कहना है कि बार कोडिंग के कारण से कॉपी का मुख पेज व शेष कॉपी अलग-अलग रखी गई हैं

सोनिका प्रकरण : शिक्षक भर्ती में अनुसूचित जाति की सोनिका देवी की कॉपी बदलने का मामला 31 अगस्त को हाईकोर्ट के सामने उजागर हुआ था। साथ ही बार कोडिंग पर गंभीर सवाल उठे थे। हाईकोर्ट के निर्देश पर सोनिका को भर्ती की काउंसिलिंग में उन्नाव जिले में प्रतिभाग कराया जा चुका है।

सौरभ प्रकरण : हाईकोर्ट के आदेश पर 119 याचियों को परीक्षा नियामक कार्यालय से पिछले दिनों कॉपी दी जानी थी। उसमें कॉपी मुहैया हुई लेकिन, कुछ अभ्यर्थियों की कॉपी अभी तक नहीं मिली है, उनमें से सौरभ सिंह को अभी तक कॉपी नहीं मिल पाई। कहा जा रहा है कि यह सब बार कोडिंग गलत तरीके से होने के कारण हुआ है।

परिणाम में 37 तो कॉपी में मिले 87 अंक : शिक्षक भर्ती मामले में एक ऐसा प्रकरण सामने आया है जिसमें परिणाम और स्कैन कॉपी में अलग अलग अंक मिले है। ऐसा ही मामला एक अभ्यर्थी किरन देवी के साथ हुआ है। किरन देवी को शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा के रिजल्ट में फेल दिखाया गया जब वो स्कैन कॉपी में मिले अंकों से पास हो रही हैं। अभ्यर्थियों की मानें तो हाईकोर्ट के आदेश से परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से 60 स्कैन कॉपियां जारी हुईं हैं, उनमें से अधिकतर कॉपियों के मूल्यांकन में गड़बड़ियां पाई गई। किसी कॉपी में गलत जवाब पर भी अंक दिए गए हैं तो तमाम में ओवर राइटिंग होना सामने आया है।

किरन देवी प्रकरण : शिक्षक भर्ती की लिखित भर्ती के परिणाम में किरन देवी अनुक्रमांक 29300301540 को बुकलेट सीरीज ‘सी’ मिली थी। उसे परिणाम में 37 अंक देकर फेल घोषित कर दिया गया, जबकि स्कैन कॉपी में उसके 87 अंक दर्ज मिले हैं।

भरत कुमार प्रकरण : ऐसा ही मामला शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थी भरत कुमार अनुक्रमांक 68700301263 के साथ हुआ है। उसको बुकलेट सीरीज ‘सी’ मिली थी। उसके प्रश्न संख्या 27 में गलत जवाब पर भी अंक मिला है।

मयंक कुमार जैन प्रकरण : इसी तरह मयंक कुमार जैन अनुक्रमांक 9390602541 को बुकलेट सीरीज ‘ए’ मिली थी। मयंक को प्रश्न संख्या 28 का गलत जवाब देने पर भी पूरे अंक दिए गए हैं। किसी कॉपी में गलत जवाब पर भी अंक दिए गए हैं तो तमाम में ओवर राइटिंग होना सामने आया है।

साधना वर्मा प्रकरण : साधना वर्मा अनुक्रमांक 6160201131 बुकलेट सीरीज ‘सी’ मिली, साधना को कटिंग व ओवर राइटिंग वाले प्रश्नों के जवाब में अंक नहीं मिले हैं।

जया राठौर प्रकरण : जया राठौर अनुक्रमांक 8090100253 को बुकलेट सीरीज ‘ए’ मिली थी इसकी स्कैन कॉपी पर कटिंग व ओवर राइटिंग मिली है।

अभ्यर्थियों का कहना है कि सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा में 13 प्रश्न ऐसे पूछे गए थे जिनके जवाब गलत हैं, उन पर भी अंक दिए गए हैं। अनूप कुमार सिंह व विशाल सिंह का कहना है कि सोमवार को उच्च स्तरीय समिति के समक्ष इस मामले को रखेंगे। शनिवार को कॉपी मुहैया कराई है।

पढ़ें- खंगाली जा रहीं फेल अभ्यर्थियों की उत्तर पुस्तिकाएं, संशोधित रिजल्ट देने की तैयारी 

68500 adhyapak bharti ki likhit pariksha banti ja rahi gadabadi ka pulinda

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.